उल्टा पानी मैनपाट: मैनपाट भारतीय राज्य छत्तीसगढ़ में एक हिल स्टेशन और लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। यह छत्तीसगढ़ राज्य के उत्तरी भाग में सरगुजा जिले का मैनपाट का एक छोटा सा गाँव है। यह पर्यटकों के बीच ‘छत्तीसगढ़ के शिमला’ के रूप में प्रसिद्ध है। प्राकृतिक सुंदरता और हरे भरे वन क्षेत्र से निर्मित, यह टाइगर, फिश पॉइंट,घाघी वॉटरफॉल, जलजली पॉइंट और कई अन्य लुभावनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए भी प्रसिद्ध है। यह जगह जंगल और हरियाली से घिरी हुई है। जंगलो के बीच में एक गाँव बसा है जहाँ पानी उल्टा बहता है तो आइये इस लेख में जानते है रहस्यमय स्थल उल्टा पानी के बारे में।

उल्टा पानी मैनपाट: जानिए मैनपाट के रहस्यमय स्थल के बारे में

उल्टा पानी मैनपाट

यह स्थल सरगुजा जिले में मैनपाट क्षेत्र के विसरपानी गाँव में स्थित है। अंबिकापुर से मैनपाट लगभग 50किमी दूर है। मैनपाट में घूमने के लिए कई बेहतरीन जगहें हैं। यहाँ जाने के बाद आप मैनपाट की पहाड़ियों की सुन्दरता में मोहित हो जायेंगे, साथ ही जंगलों के बीच उल्टा पानी और चुंबकीय पहाड़ी है जिसे स्थानीय भाषा में इसका नाम उल्टा पानी है जिसका मतलब पानी का बहाव उल्टा होता है। यहां ढलान है और ढलान होने के बावजूद पानी नीचे से ऊपर की ओर बह रहा है। जो अविश्वसनीय है। गाड़ी स्टार्ट किए बिना नीचे से ऊपर की ओर आगे बढ़ता है। इस प्रकृति के चमत्कारों को देखने हर किसी को जाना चाहिए।

लोगों का मानना है की :- लगभग 185 मीटर के दायरे में चुंबकीय क्षेत्र मौजूद हैं और इसी विशिष्ट चुंबकीय क्षेत्र की घटना के कारण, पानी की धारा ऊपर की ओर बह रहा हैं। पानी वास्तव में ऊपर की ओर बहती है।

मैनपाट कब जाये

मैनपाट आप कभी भी जा सकते है लेकिन मानसून और ठंडी में यहाँ की खूबसूरती देखने लायक होता है अगर आप मानसून में जाते है तो सुन्दर झरना का आनन्द ले पाएंगे और ठंडी में झरना के साथ प्रकृति वादियों का लुप्त उठा सकते है।

मैनपाट में कहाँ ठहरें

मैनपाट हिल या कमलेश्वरपुर जो मध्य में स्थित बौद्ध मंदिर के लिए लोकप्रिय है। आप आसानी से अच्छे होटल प्राप्त कर सकते हैं और इसकी कीमत लगभग 1000-2000 / – प्रति रात है जो पिक और ऑफ सीजन पर निर्भर करती है।

मैनपाट कैसे जाए

मैनपाट जाना बहुत ही आसान है आप बस, या अपने नीजी वाहन की सुविधा से जा सकते है अगर आप ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं, तो अंबिकापुर तक ट्रेन की सुविधा से आ सकते है। फिर आपको कैब की व्यवस्था करनी होगी या, यदि आपके पास अपना वाहन है, तो यह आदर्श विकल्प है। मैनपाट में घूमने के लिए कई जगह है जो लगभग 10-15 किलोमीटर की दूरी में हैं।

  • नजदीकी रेलवे स्टेशन :– अंबिकापुर रेलवे स्टेशन सबसे नजदीकी का है यह काफी शहरों से अच्छी तरफ जुड़ा हुआ है।
  • नजदीकी हवाई अड्डा :– स्वामी विवेकानंद हवाई अड्डा रायपुर जो की अम्बिकापुर से इसकी दूरी लगभग 336किमी है।
  • नजदीकी बस स्टैंड :– अंबिकापुर बस स्टैंड है यहाँ से आप बस के माध्यम सेया अपनी नीजी वाहनों से मैनपाट पहुँच सकते हैं।

मैनपाट में देखने के लिए अन्य पर्यटन स्थल

टाइगर पॉइंट :- यह एक सुन्दर झरना है झरने धरती से टकराते हैं, तो ऐसा लगता है मानो बाघ दहाड़ रहा है। पहले इस क्षेत्र में जंगल के बाघ देखे जाते थे इसलिए इस जगह का नाम टाइगर पॉइंट पड़ा। हरे-भरे जंगल से घिरा हुआ यह झरना प्रकृति माँ की गोद में बैठकर, ठंडी हवा के साथ पानी की बुँदे जब त्वचा को सहलाती है तो मंत्रमुग्ध कर देती है।

फिश पॉइंट वाटरफॉल :- मैनपाट का फिशपॉइंट देखने लायक है। टाइगरपॉइंट के बाद यह सबसे खूबसूरत जगह है। यह स्थान पर्यटकों के बीच प्रसिद्ध है क्योंकि इसमें दो झरने हैं। झरना लगभग 50 फीट की ऊंचाई से गिर रहा है, और यह दृश्य लुभावनी है।

मेहता पॉइंट :- मैनपाट में इसे सूर्यास्त और सूर्योदय के स्थान के रूप में जाना जाता है। यह लुभावनी दृश्य प्रदान करता है। मैनपाट की ताज़ी हवा में आराम करने और प्रकृति के वैभव को निहारने के लिए और दिन बिताने के लिए एक प्यारा क्षेत्र है।

घाघी जलप्रपात :- यह अंबिकापुर मैनपाट रोड पर दरिमा के पास एक झरना है। यह एक आश्चर्यजनक अनदेखा पर्यटन स्थल है, लेकिन खराब पहुंच मार्ग के कारण वहां पहुंचना मुश्किल है। हालाँकि, यह एक प्यारा पिकनिक स्थल है। आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ पिकनिक के लिए इस स्थान पर जा सकते है। घाघी घाही नदी पर एक छोटा सा झरना है जो घुंघुट्टा बांध में बहता है।

इन्हें भी देखें

सवाल जवाब

छत्तीसगढ़ में उल्टा पानी कहाँ है?

छत्तीसगढ़ में उल्टा पानी सरगुजा जिले के मैनपाट क्षेत्र के विसरपानी गाँव में है।

अंबिकापुर से मैनपाट की दूरी कितनी है?

अंबिकापुर से मैनपाट की दूरी लगभग 50किमी है।