छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला में घूमने के लिए कई धार्मिक और प्राकृतिक स्थल हैं। आज के इस लेख में हम ऐसे ही खुबसूरत झरना के बारें में जानेगे जिसकी सुंदरता की कोई बात ही नहीं है खूबसूरती की दृष्टि से यह छत्तीसगढ़ के सबसे खूबसूरत झरनों में से एक है। इसका नाम दनगरी वाटरफॉल है, यह घने जंगल से घिरा हुआ है, जो चट्टानों से होते हुए लगभग 100 फीट की ऊंचाई से नीचे गिर रहा हैं। इस जलप्रपात के बारे में काफी कम लोगों को मालूम है क्योंकि यह घने जंगलों के बीच में हैं और वहाँ तक पहुँचने के लिए पैदल चलता पड़ता है, आइये जानते हैं खुबसूरत और जंगलों के बीच स्थित दनगरी जलप्रपात के बारे में:

दनगरी वाटरफॉल के बारे में जानें

दनगरी वाटरफॉल

दनगरी जलप्रपात छत्तीसगढ़ के जिला जशपुर के सुलेसा और पंडारापथ गाँवों के बीच घने जंगलों में स्थित है और जशपुर से लगभग 90 किमी दूर है।यह जगह प्रकृति प्रेमियों के लिए बहुत ही अच्छा है घने जंगलों के बीच में झरना से गिरता हुआ पानी नदियों के माध्यम से बहता हुआ आगे बढ़ रही हैं जिससे हरे-भरे जंगल और बहती नदियाँ एक सुंदर दृश्य बनाती हैं, जो की पर्यटकों के लिए काफी लुभावना होता है। जलप्रपात तक पहुँचने के लिए आपको दो नदियों को पार करते हुए लगभग 2 किमी पैदल चलना होगा, तब जाके आप सुन्दर झरना के दृश्यों का आनंद ले सकते हैं।

पानी चट्टानों के टकराते हुए बह रहा है जिससे पानी दूध जैसा दिखता है और पानी के गिरने की आवाज दूर से ही सुनी जा सकती है। डूबते सूरज की अंतिम किरणें जब पहाड़ी से टकराकर जलप्रपात पर पड़ती हैं तो वे पानी सूरज की रोशनी से चमक उठता हैं इस सुन्दर नजारा के बीच में चिड़ियों का चहचहाहट पर्यटकों के लिए सुंदर वातावरण का निर्माण करती हैं। यह पिकनिक के लिए भी अच्छा जगह हैं। यदि आप घूमने के साथ पिकनिक मनाने के लिए सुन्दर स्थान का तलाश कर रहे हैं तो यह जगह आप के लिए बेस्ट है।

दनगरी जलप्रपात का फोटो


कब जाएँ

दनगरी वाटरफॉल आप कभी भी जा सकते हैं लेकिन मानसून के मौसम में मार्ग ठीक नहीं होने के कारण आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है लेकिन जब आप मानसून के मौसम में जाते है तो आपको जलप्रपात का अलग ही नजारा देखने को मिलेगा, वाटरफॉल के साथ खुबसुरत वादियों का लुप्त उठाना चाहते हैं तो अक्टूबर से फरवरी के बीच आप जा सकते हैं।

कैसे जाएँ

  • निकटतम बस स्टैंड – जशपुर बस स्टैंड।
  • निकटतम रेलवे स्टेशन – अंबिकापुर रेलवे स्टेशन और रांची रेलवे स्टेशन।
  • निकटतम हवाई अड्डा – स्वामी विवेकानन्द हवाई अड्डा रायपुर।

आस-पास घुमने की जगह

मकरभंजा जलप्रपात:- यह जलप्रपात महानाई से लगभग 2 किमी दूर जंगल के बीच में है, अगर आपको लंबी पैदल यात्रा पसंद है, तो घूमने के लिए एक बेहतरीन जगह है। यह जलप्रपात घने जंगलों के बीच में लगभग 400 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरता है। इस झरने के बारे में सुनकर लोग दूर-दूर से इसे देखने जाते हैं। यदि आप दनगरी वाटरफॉल घुमने जा रहे हैं तो मकरभंजा जलप्रपात एक बार घूमने जरूर जाएँ।

कुनकुरी चर्च:- इस चर्च ने कुनकुरी को एक कस्बा बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस चर्च का निर्माण 1962 से 1979 के बीच बनकर तैयार हुआ था। कुनकुरी एक छोटा सा गांव हुआ करता था, लेकिन अब यह शहर बन गया है। कैथेड्रल कुनकुरी एशिया की दूसरी सबसे बड़ी चर्च है। यह चर्च सात पवित्र चिन्ह भी बनाता है, जो पर्यटकों के बीच बहुत लोकप्रिय हैं। इस चर्च में लगभग एक साथ 8,000 से 10,000 लोग बैठ के प्रार्थना कर सकते हैं। क्रिसमस पर यीशु से प्रार्थना करने दूर-दूर से लोग जाते हैं और बहुत ही धूमधाम से क्रिसमस मनाते हैं।

कैलाश गुफा:- यह जशपुर का प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक हैं यहाँ वर्ष के हर महीने लोगो का आना जाना लगा रहता है लेकिन महाशिवरात्रि के समय हजारों की संख्या में श्रद्धालु जाते हैं शिवरात्रि में मेला का भी आयोजन किया जाता हैं।

सवाल जवाब

दनगरी जलप्रपात कहाँ है?

दनगरी जलप्रपात छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला में है।

दनगरी वाटरफॉल किस मौसम में जाना चाहिए?

दनगरी वाटरफॉल मानसून के बाद ठंड के मौसम में जाना चाहिए।

आज के इस लेख में हमने दनगरी वाटरफॉल के बारे में जाना, उम्मीद है यह लेख आपको अच्छा लगा होगा यदि अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।